Tuesday, February 16, 2010

Faridabad Azadari 29 Safar 2010 Matam

29 Safar (14 Feb.2010) Jaloos at Markaz Faridabad was great success. Boys of Ali Association from Shikarpur (UP - INDIA) specially reached Faridabad for participation. They impressed momneen of Faridabad by their Matam,Nauha and disciplene. This Nauha with Matam is in five part videos. 29 सफर (14 फरवरी 2010)का जुलूस इस बार बाबा फरीद की नगरी फरीदाबाद (इंडिया) में जबरदस्त कामयाब रहा। अली एसोसिएशन शिकारपुर (यूपी - इंडिया) के युवकों ने अपने मातम और नौहों से फरीदाबाद के शिया मोमनीन से काफी तारीफ बटोरी। इस अंजुमन का नौहा पांच विडियो क्लिपिंग में है। Boys of Ali Association from Shikarpur (UP - India) reciting Nauha of Najmi. This is a local language of western UP in India. You can find Nauhas in India in more than 1000 local languages. अली एसोसिएशन शिकारपुर (यूपी - इंडिया) के युवक नजमी का लिखा नौहा पश्चिम उत्तर प्रदेश में बोली जाने वाली भाषा में पढ़ रहे हैं। इंडिया के बारे में मशहूर है कि यहां हर एक कोस पर भाषा बदल जाती है। इस देश में आपको 1000 से ज्यादा भाषाओं में नौहे मिल जाएंगे। Language is no bar to deliver the message of Karbala. करबला का संदेश देने में भाषा कोई बाधा नहीं है। यह इस नौहे से साबित होता है। May be you are listening it in Pakistan or China just feel the emotions. चाहे आप इस भाषा को अच्छी तरह न समझ पा रहे हों लेकिन आप इसकी भावना को जरूर समझ रहे होंगे। This is last part of this Nauha by Boys of Ali Association from Shikarpur (UP - India). अली एसोसिएशन शिकारपुर द्वारा पेश किए गए इस नौहे का यह अंतिम विडियो है। You can find more Videos of Nauha, Matam, Majlis at www.youtube.com/ykmedia and http://shiavtube.blogspot.com

No comments: